आवश्यक होने पर लॉकडाउन की स्थिति में आवश्यक वस्तुओं की उपलब्ध सुनिश्चित करने हेतु विभागों की कार्ययोजना की समीक्षा

अनुविभाग और तहसील स्तर पर भी कार्ययोजना की तैयारियों की भी समीक्षा
देवास 22 मार्च 2020/ कलेक्टर डॉ श्रीकान्त पाण्डेय ने रविवार को देर शाम कोराना वायरस के प्रकोप के कारण जिले में लॉकडाउन की स्थिति बनने पर आम जनों को आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता तथा मेडीकल सुविधाओं की व्यवस्था सुनिश्चित करने के संबंध में जिला अधिकारियों द्वारा तैयार की गई कार्ययोजना की समीक्षा की। इसके साथ ही वीडियो कान्फ्रेंस के माध्यम से अनुविभाग व तहसील स्तर पर अधिकारियों द्वारा अपने अपने क्षेत्र के लिए आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता व चिकित्सा सेवाओं की व्यवस्था के संबंध में तैयारियों की समीक्षा की गई।
बैठक में देवास शाजापुर सांसद महेन्द्रसिंह सोलंकी व विधायक देवास श्रीमती गायत्री राजे पंवार विशेष रूप से उपस्थित थे। बैठक में सांसद सोलंकी ने अधिकारियों द्वारा कोरोना वायरस से निपटने के लिए की गई तैयारियों की प्रशंसा की। साथ ही कहा कि अधिकारी आम जनता को कोराना वायरस से बचाने की महती जिम्मेदारी का निर्वहन कर रहे हैं । अधिकारी स्वयं व अपने परिवार को भी बचायें। विधायक श्रीमती गायत्री राजे पंवार ने कोरोना वायरस से बचाव हेतु जनजागरूकता पर बल दिया। उन्होंने मॉस्क व सेनेटाइजर के संबंध में भी जनजागरूकता की बात कही।
बैठक में सभी अनुविभागों व तहसील स्तर पर कोराना वायरस से बचाव हेतु किये गये उपायों की विस्तार से समीक्षा की गई। अनुविभागीय स्तर पर आयसोलेशन वार्ड के अलावा क्वारेंटाईन सेंटर, बेड, चिकित्सकों व स्टॉफ की ड्यूटी, मॉस्क, सेनेटाइजर के संबंध में जन जागरूकता, आवश्यक वस्तुएं जैसे खाद्यान्न, किराना सामग्री, दूध, सब्जी, दवाइयों की उपलब्धता आदि की समीक्षा कर निर्देश दिये गये। सभी जगह कंट्रोल रूम बनाने हेतु भी निर्देशित किया गया। जिले में दवाईयां मास्क सेनेटाईजर निर्धारित दर पर ही विक्रय किये जाये। प्रशासन, पुलिस व स्वास्थ्य विभाग के कंट्रोल रूम के भी समन्वय हेतु निर्देशित किया गया।
बैठक में निर्देश दिये गये कि बाहर से आने वाले व्यक्तियों की जानकारी पृथक से रजिस्टर बनाकर संधारित की जाये, जिसमें उनके नाम, मोबाइल नम्बर, पता आदि की जानकारी हो। लोगों को कोरोना वायरस के संबंध में बचाव हेतु जागरूक करने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिये गये। मॉस्क के संबंध में कहा गया कि लोगों को जागरूक किया जाये कि सभी व्यक्तियों को मॉस्क लगाने की आवश्यकता नहीं हैं। डॉक्टर, स्टॉफ या जिसे सर्दी खांसी है उसे ही मॉस्क लगाने की आवश्यकता है। भीड़ भाड़ वाले स्थलों पर जाने से बचने की सलाह दी गई है। लोगो को यह भी कहा गया है कि संक्रमण से बचाव हेतु बार-बार हाथ धोयें। सामान्य साबुन से भी हाथ धोनें से संक्रमण से बचा जा सकता है। इसके लिए जरूरी है कि 20 सैकेण्ड तक हाथ धोयें।
बैठक में संदिग्ध मरीज मिलने पर उपचार व जांच की व्यवस्थाओं पर भी चर्चा की गई। स्वास्थ्य विभाग द्वारा की गई तैयारियों के संबंध में सीएमएचओ द्वारा कार्ययोजना से अवगत कराया गया। दूध, फल व सब्जियों की आपूर्ति बनाये रखने की कार्य योजना की भी जानकारी दी गई।

Post Author: Vijendra Upadhyay

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

68 + = 78