कानून में संशोधन कर दुष्कर्मियो को तुरंत फांसी दी जाए, राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री के नाम दिया ज्ञापन

देवास। दुष्कर्म जैसे लगातार बढ़ते जघन्य अपराधो के चलते कानून में तत्काल प्रभाव से संशोधन कर दुष्कर्मियो को तुरंत फांसी की सजा की मांग को लेकर नगर जनहित सुरक्षा समिति का प्रतिनिधि मण्डल मंगलवार को जिला कलेक्टर के अवकाश पर रहने पर एसडीएम अरविंद चौहान से मिला एवं राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा।
समिति अध्यक्ष अनिलसिंह बैस ने बताया कि वर्तमान स्थिति के चलते देशभर में महिला, छात्राएं व बेटियो के साथ शर्मनाक जघन्य दुष्कर्म जैसी घटनाएं निरंतर प्रतिदिन तेजी से बढ़ती जा रही हे। जिसके चलते महिलाओ व बेटियो का घर से निकलना दुर्लभ हो गया है। बेटियो की स्वतंत्रता पर देशभर में सवालिया निशान खड़े हो रहे है। पूरे देश में भय का माहौल बना हुआ है। बावजूद इसके अपराधियो के हौंसले बुलंद है। हैदराबाद में दुष्कर्म/हत्या जैसी शर्मनाक घटना की आग पूरे देश में सुलग रही है। ऐसे अपराधियो पर तत्काल प्रभाव से शारीरिक एवं मानसिक जीवनलीला को तत्काल प्रभाव से सार्वजनिक रूप से खत्म करने की आवाज शहर सहित पूरे देश में जोर पकड़ रही है। समिति ने ज्ञापन के माध्यम से राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री से मांग की है कि कानून में तत्काल प्रभाव से संशोधन कर ऐसे दुष्कर्मियो को तुरं तत्काल प्रभाव से सार्वजनिक कठोर से कठोर सजा देते हुए तुरंत फांसी दी जाए, जिससे इस प्रकार के कृत्य पुन: न हो सके।
ज्ञापन देते समय प्रदीप कानूनगो, सुनीलसिंह ठाकुर, विनोदसिंह गौड़, लक्ष्मणसिंह ठाकुर, विजयसिंह तंवर, रफीक पठान, तकीउद्दीन काजी, अकबर भाई, सुभाष वर्मा, रूद्र बारोड़, निखिल शर्मा, कमलेश सांगते, राकेश चौहान, संजय रेनिवाल, चंद्रकांत क्षीरसागर आदि समिति सदस्य उपस्थित थे।

Post Author: Vijendra Upadhyay

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

+ 19 = 28