देवास न्यायालय के वकील रहेंगे न्यायिक कार्य से विरत

-अपराधियो पर कड़ी कार्यवाही हेतु ज्ञापन सौपेंगे
देवास। प्रदेशभर में वकीलों के साथ लगातार हमले की घटनाएं बढ़ रही है जिसके कारण वकीलों में रोष व्याप्त है। देवास जिला अभिभाषक संघ के अध्यक्ष मनोज हेतावल व सचिव प्रवीण शर्मा ने बताया कि मध्यप्रदेश राज्य अधिवक्ता परिषद के काफी प्रयासों के बाद भी मध्यप्रदेश राज्य सरकार के द्वारा एडवोकेट्स प्रोटेक्शन एक्ट नहीं लाया गया है, जिसको लेकर प्रदेश के अधिवक्ताओं के बीच अत्यधिक रोष है। वर्तमान में मंदसौर के वकील युवराज सिंह चौहान हत्याकांड की घटना बहुत गंभीर है राज्य अधिवक्ता परिषद इसे गंभीरता से ले रही है।हम इस घटना की निंदा करते हैं। राज्य सरकार के द्वारा वकीलों की सुरक्षा में कोई कदम नहीं उठाए गए अधिवक्ता प्रोटक्शन अधिनियम वादा करके भी नहीं लाया गया, इससे पूरे प्रदेश के अधिवक्ता आक्रोशित हैं।
दिनांक 11 अक्टूबर 2019 को देवास जिले के समस्त अधिवक्ता न्यायालयीन कार्य से विरत रहकर प्रतिवाद दिवस के रूप मे मनायेंगे। साथ ही एडवोकेट्स प्रोटेक्शन एक्ट बनाने के लिए व इस तरह की घटना भविष्य में ना हो, वकीलों की सुरक्षा के लिए कदम उठाए जाने हेतु एवं घटना में अपराधियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई के लिए मांग करते हुए ज्ञापन देंगे व अपने ज्ञापन में यह भी आग्रह करेंगे कि अगर एडवोकेट्स प्रोटेक्शन एक्ट व वकीलों की सुरक्षा की व्यवस्था समुचित रूप से नहीं की गयी तो प्रदेश के अधिवक्ता अनिश्चित काल के लिये न्यायालयीन कार्य से विरत रहकर अपनी मांग को पूरी करवाने के लिये बाध्य रहेंगे।

Post Author: Vijendra Upadhyay

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

8 + 2 =