नागरिकता कानून पर विपक्ष फैला रहा भ्रम, देश हित में करें कानून का समर्थन, आमजन को समझाएं प्रबुद्धजन- विजयवर्गीय

– नागरिकता संशोधन कानून पर भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव श्री कैलाश विजयवर्गीय ने किया प्रबुद्धजन से संवाद
– विपक्ष कानून को लेकर सरकार के खिलाफ कर रहा दुष्प्रचार
– सांसद महेंद्र सोलंकी और विधायक गायत्रीराजे पवार ने भी किया संबोधित

देवास। पिछले कुछ समय से पूरा विपक्ष नागरिकता संशोधन कानून पर पूरे देश में भ्रम फैलाने का प्रयास कर रहा है। हमारे लिए देश पहले है, दल बाद में। देश के जिम्मेदार नागरिक के रूप में ये हम सबकी जवाबदारी है कि हम विपक्ष द्वारा फैलाये जा रहे भ्रम को दूर कर लोगों को असलियत समझाएं कि यह कानून किसी के खिलाफ नही है, बल्कि देश के हित में है। यह बात भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने देवास में सीएए पर प्रबुद्धजन से संवाद के दौरान कही।
भाजपा जिला प्रवक्ता शंभू अग्रवाल ने बताया कि सीएए पर लोगों के भ्रम को दूर करने के लिए संवाद कार्यक्रम स्टेशन रोड स्थित गीता भवन में आयोजित किया गया था। इस अवसर पर श्री विजयवर्गीय ने संबोधित करते हुए कहा कि देश का विभाजन धर्म के आधार पर हुआ। तत्कालीन नेताओं ने कहा था कि यह देश हिंदू विचार धारा के आधार पर होगा। उन्होंने कहा मैं हिंदू शब्द को ही प्रजातंत्र का पर्यायवाची मानता हूं। इसलिए प्रजातंत्र की बात आती है तो हिंदू विचारधारा प्रजातांत्रिक है। वह अपने मेहमान को सम्मान देती है। हमने हमेशा हर धर्म का सम्मान किया। हमारे देश में हूण आए, शक आए और सब हममे समा गए। यह हिंदू हृदय की विशालता है।
उन्होंने कहा विभाजन के बाद जनसंख्या एक्सचेंज के समय गांधी जी के सामने लियाकत-नेहरू समझौता हुआ। इसके तहत दोनों देशों में अल्पसंख्यकों को रहने की आजादी मिलना थी, लेकिन पाकिस्तान में ऐसा नहीं हुआ। आजादी के समय पाकिस्तान में हिंदूओं की संख्या 20 प्रतिशत थी और भारत में मुसलमानों की संख्या 8 प्रतिशत थी। 70 साल बाद आज भारत में मुस्लिम आबादी करीब 20 प्रतिशत हो गई। पाकिस्तान में हिंदूओं की जनसंख्या मुश्किल से एक प्रतिशत हो गई है। प्रश्न यह है कि ये 17 प्रतिशत लोग कहां गए?

पड़ोसी देशों में धार्मिक प्रताड़ना झेल रहे लोग
बंगाल में 38 हजार गांव हैं, उनमें आठ हजार गांव ऐसे हैं, जहां शत प्रतिशत मुस्लिम आबादी है, 9 हजार गांव ऐसे हैं, जहां दोनों की आबादी का प्रतिशत 50 प्रतिशत है। साफ है ऐसा घुसपैठियों के कारण हो रहा है। कुछ लोग ऐसे हैं, जो पड़ोसी देशों में धार्मिक रूप से प्रताड़ित होकर आ रहे हैं। जो अपनी जान और अपनी बहू बेटियों की इज्जत बचाकर यहां आए हैं। पड़ोसी देशों में प्रताड़ित लोगों की सारी व्यवस्था और उचित सम्मान देने की बात महात्मा गांधी, डॉ. राजेंद्र प्रसाद, पं. नेहरू से लेकर डॉ. मनमोहन सिंह तक ने भी कही थी।
चंद विश्वविद्यालयों में समस्या
श्री विजयवर्गीय ने कहा कि अब नागरिकता संशोधन कानून को लेकर विपक्ष राजनीतिक हित के लिए भ्रम फैला रहा है। विपक्ष यह माहौल बनाने में लगा है कि देश के विद्यार्थी सरकार से नाराज हैं। कुछ तत्व अपने हित के लिए लगातार झूठ फैला रहे हैं। देश के 400 विश्वविद्यालयों में से सिर्फ कुछ जगहों पर एक आध प्रतिशत विद्यार्थी सीएए का विरोध कर रहे हैं।

प्रबुद्ध वर्ग करें लोगों का भ्रम दूर
उन्होंने कहा कि यह देश लगातार दुनिया में तरक्की कर रहा है और ऐसे में देश को मजबूत करना चाहिए। उन्होंने कहा कि सीएए में किसी की नागरिकता छीनने का कोई प्रावधान नहीं है। इस एक्ट के तहत सिर्फ पड़ोस के देशों के प्रताड़ित शरणार्थियों को नागरिकता दी जा रही है। उन्होंने शहर के प्रबुद्ध वर्ग से देशहित में इस कानून को लेकर आम जन का भ्रम दूर करने की अपील की है।

लोगों को वास्तविकता बताने की जरूरत- सांसद
इस अवसर पर मंच पर उपस्थित सांसद महेंद्रसिंह सोलंकी ने कहा कि हम देखें कि इस नागरिकता संशोधन कानून की जरूरत क्यों पड़ी ? कांग्रेस द्वारा मान्य 1947 का धर्म आधारित बंटवारा और उसके बाद लोगों को धर्म आधारित बांटने का सिलसिला इसके मूल में है। आज भी ये ही भ्रम फैलाया जा रहा है कि ये अल्पसंख्यकों के विरोध में है। हमें लोगों को वास्तविकता बताने की जरूरत है।
विपक्ष फैला रहा अशांति- विधायक
मंच पर उपस्थित विधायक श्रीमती गायत्री राजे पवार ने कहा कि मोदीजी की विकास यात्रा और आगे बढ़ता देश विपक्ष को हजम नही हो रहा है, इसलिए वे अशांति पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं। मैं देवासवासियों की तारीफ करूंगी कि उन्होंने हमेशा शांति का परिचय दिया है।
बड़ी संख्या में प्रबुद्ध नागरिक रहे उपस्थित
इसके पूर्व कार्यक्रम में स्वागत भाषण भाजपा जिलाध्यक्ष नंदकिशोर पाटीदार ने दिया। कार्यक्रम की अध्यक्षता पूर्व प्राचार्य आरएस जर्रा ने की। कार्यक्रम में पूर्व मंत्री दीपक जोशी, पूर्व पापुनि अध्यक्ष रायसिंह सेंधव, पूर्व जिलाध्यक्ष बहादुर मुकाती, पूर्व विधायक राजेंद्र वर्मा, पूर्व महापौर सुभाष शर्मा, शरद पाचुनकर मंचासीन थे। कार्यक्रम का संचालन राजेश यादव ने किया। आभार जिला महामंत्री फूलसिंह चावड़ा ने माना। इस अवसर पर बड़ी संख्या में प्रबुद्ध नागरिक, युवा और महिलाएं उपस्थित थी।

Post Author: Vijendra Upadhyay

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

25 + = 31