निगम आयुक्त के बयान की भाजपा पार्षद दल ने की निंदा

देवास। पिछले दिनों पेट्रोल पर हो रही गड़बड़ी को लेकर निगम अध्यक्ष अंसार अहमद द्वारा निगम आयुक्त को बुलवाया गया था, किंतु इस गड़बड़ी को रोकने निगम आयुक्त संजना जैन नहीं पहुंची। इसके विपरीत निगम आयुक्त संजना जैन ने निगम अध्यक्ष अंसार अहमद पर व्यक्तिगत आक्षेप लगाकर उनकी छवि को धूमिल करने का प्रयास किया है। भाजपा पार्षद दल निगम आयुक्त के इस तरह के व्यवहार की निंदा करता है।
नेता सत्तापक्ष मनीष सेन ने प्रेस विज्ञप्ति में बताया कि निगम आयुक्त को एक जनप्रतिनिधि के लिए किस तरह के शब्दों का उपयोग करना चाहिए, वे भूल गई है। सभापति नगर निगम का सम्मानीय पद होता है, एक अधिकारी को कोई हक नहीं है वे कि वे उनके परिवार को लेकर कोई टिप्पणी करें। महापौर सुभाष शर्मा, नेता सत्तापक्ष मनीष सेन, पार्षद राजेश यादव, विनय सागते, संजय दायमा, अर्जुन चोधरी, राज वर्मा, रूपेश वर्मा, धर्मेंद्र पाचुनकर, दिलीप ठाकुर, धर्मेंद्र यादव, बाबू यादव, यशवंत हरोडे, सत्यनारायण वर्मा, नरेंद्र यादव, मनोज राय, सुनील योगी, इरफान अली, बाली घोसी बसंत चौरसिया, मिलिंद सोलंकी, मुकेश सांगते, ममता शर्मा, सीमा मिलिंद सोलंकी, सावित्री राठौर आदि पार्षदों की निंदा की है। साथ ही निगम आयुक्त से गलती स्वीकारने की मांग करता है।

Post Author: Vijendra Upadhyay

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

38 − 31 =