मप्र प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की बैठक सम्पन्न

प्रदेश की नॉन अटेनमेंट सिटी के परिवेशीय वायु गुणवत्ता सुधार हेतु उपायों पर चर्चा
देवास 14 जनवरी 2020/ प्रदेश की नॉन अटेनमेंट सिटी के परिवेशीय वायु गुणवत्ता में सुधार हेतु बनाई गई कार्य योजना के क्रियान्वयन के संबंध में क्षेत्रीय कार्यालय मप्र प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड में परिवहन व खाद्य विभाग के अधिकारियों तथा पेट्रोल पंप व्यवसायी संघ के अध्यक्ष के साथ बैठक आयोजित की गई। बैठक में क्षेत्रीय अधिकारी म.प्र.प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड देवास ने बैठक के उद्देश्य की जानकारी तथा नॉन अटेनमेंट शहरों हेतु बनाये एक्शन प्लान के संबंध में बोर्ड मुख्यालय में आयोजित बैठक के संबंध में जानकारी दी।
बैठक में क्षेत्रीय अधिकारी ने अवगत कराया कि 15 वर्ष से अधिक पुराने डीजल चलित व्यवसायिक वाहनों के संचालन को हतोत्साहित करने पर चर्चा की गई। इस पर परिवहन विभाग से उपस्थित प्रतिनिधि मीनाक्षी गोखले ने बताया कि यह पॉलिसी निर्णय है, जिस पर शासन स्तर पर निर्णय लिया जावेगा। बैठक में ई-रिक्शा के संबंध में परिवहन अधिकारी ने बताया कि देवास में सीएनजी उपलब्ध होने के कारण ई-रिक्शा कम है। उपयोगिता को प्रोत्साहित करने की कार्यवाही सुनिश्चित की जा रही है।
पी.यू.सी. जांच संबंधी केन्द्र स्थापित करने के सबंध में खाघ विभाग के खाद्य अधिकारी शालु वर्मा ने बताया कि देवास स्थित सभी पेट्रोल पम्पों को पी.यू.सी. जांच संबंधी केन्द्र स्थापित करने के निर्देश जारी किए गए है।
पेट्रोल पम्पों के अध्यक्ष आंचल अग्निहोत्री ने अपना पक्ष रखा उन्होंने बताया कि माननीय एन.जी.टी. के आदेशानुसार इस संबंध में कार्यवाही की जायेगी। जिस पर कार्यवाही समयबद्ध कार्ययोजना एवं सप्ताह में प्रस्तुत की जाएगी। उल्लेखनीय है कि वायु प्रदूषण रोकने हेतु की गई कार्यवाही से देवास शहर की परिवेशीय वायु गुणवत्ता में सुधार हुआ है तथा वर्तमान में शहर की वायु गुणवत्ता संतोषजनक तथा मध्यम श्रेणी में पाई जा रही है। म.प्र.प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा ऑनलाईन मॉनिटरिंग सिस्टम की स्थापना के.पी.कॉलेज मे की गई है, जिसमें शहर की वायु गुणवत्ता को डिस्प्ले के माध्यम से आम जनता को उपलब्ध है।

Post Author: Vijendra Upadhyay

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

63 − 58 =