देवास जिले के 22 पॉजिटिव मरीज कोरोना संक्रमण से मुक्त होने पर अस्पताल से दी गई छुटटी

जिले में अब तक कुल 160 मरीज स्वस्थ होकर घर पहुंचे, एक्टिव मरीजों की संख्या 36

—————

देवास 23 जून 2020/ कोविड-19 कोरोना वायरस के पाजीटिव मरीजों में से 20 मरीजों का अमलतास अस्पताल देवास एवं 02 मरीज का जिला अस्पताल देवास में उपचार चल रहा था। सभी 22 मरीजों की कोरोना मुक्त होने पर आज अस्पताल से छुटटी कर दी गई। अस्पताल से जाते समय सभी मरीजों ने जिला प्रशासन विशेष रूप से कलेक्टर चंद्रमौली शुक्ला, जिला पंचायत सीईओ शीतला पटले सहित अमलतास अस्पताल के सभी चिकित्सक, कर्मचारी विशेष रूप से कोरोना वार्ड के ड्यूटी डाक्टर तथा नर्सिंग स्टाफ के सहयोग के लिए धन्यवाद दिया।

   मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. आर.के.सक्सेना ने बताया कि कोरोना संक्रमित व्यक्ति पूर्ण रूप से स्वस्थ होने पर 22 मरीजों को अस्पताल से छुटटी दी गई। उन्होंने बताया कि कलेक्टर चंद्रमौली शुक्ला के निर्देशन में कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम हेतु विशेष रणनीति के तहत कार्य किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि जिले के 22 पाजीटिव मरीज स्वस्थ होकर अपने घर पहुंचे। अमलतास अस्पताल के कोरोना वार्ड प्रभारी डॉ. अश्विन सोनगरा और उनकी टीम द्वारा निरंतर प्रयासरत रहकर इनका इलाज किया गया। सभी का स्वास्थ्य सामान्य पाये जाने पर आज मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. आर.के.सक्सेना, सिविल सर्जन सह कोविड-19 अमलतास नोडल अधिकारी डॉ. अतुलकुमार बिडवई, डॉ. शिवेन्द्र मिश्रा, अमलतास अस्पताल के प्रभारी चिकित्सक डॉ. अश्विन सोनगरा, डॉ. जगत रावत, अधीक्षक बी.के. नामधारी, जिला मीडिया अधिकारी सुरेशसिंह सिसोदिया, उपजिला मीडिया अधिकारी कमलसिंह डावर द्वारा डिस्चार्ज किया गया। चिकित्सकों द्वारा मरीजों से सोशल डिस्टेंसिग का पालन करने और सभी परीचितों को कोविड-19 जैसे लक्षण दिखाई देने या बीमार होने पर तुरंत डॉक्टर से सम्पर्क करने की सलाह दी।

सिविल सर्जन सह कोविड-19 अमलतास नोडल अधिकारी डॉ. अतुलकुमार बिडवई ने बताया देवास जिले के प्रत्येक डिस्चार्ज हो रहे मरीज को अस्पताल की ओर से व्यक्तिगत सुरक्षा किट दी गई तथा उन्हें होम कोरेनटाइन में रहने की सलाह दी गई। इस प्रकार आज दिनांक तक देवास जिले में कुल 160 पाजीटिव मरीज कोरोना मुक्त हुये तथा 10 पाजीटिव मरीजों की अब तक मृत्यु हो चुकी है एवं मात्र 36 एक्टिव मरीज देवास जिले से मौजूद हैं।

Post Author: Vijendra Upadhyay