प्रायवेट स्कूल की मनमानी पर पालक संघ को एसडीएम ने दिया आश्वासन


देवास। प्रायवेट स्कूलों द्वारा मनमानी फीस वसूली को लेकर पालक संघ ने 12 जनवरी को एसडीएम को ज्ञापन दिया। ज्ञापन बताया गया कि शालाओं द्वारा पालकों से केवल शिक्षण शुल्क ही लिया जाएगा किंतु निजी शालाओं द्वारा पालकों से अन्य समस्त शुल्क को भी शिक्षण शुल्क बताकर वसूल किया जा रहा है। पालक संघ ने मांग की है कि यह स्पष्ट किया जाए कि शिक्षण शुल्क कितना प्रतिशत होगा जिससे कि भ्रम की स्थति खत्म हो तथा इसे समाचार पत्रों में भी प्रकाशित किया जाए जिससे कि पालक व शिक्षण संस्थाओं के बीच फीस को लेकर कोई भ्रम न रहे। मार्च 2020 से कोविड 19 के कारण पूरे देश भर में लाकडाउन लागू हो गया था। अधिकतर पालकों के व्यापार, व्यवसाय व नौकरियों पर आर्थिक संकट खड़ा हो गया। लेकिन शिक्षण संस्थाओं द्वारा बगैर शिक्षण शुल्क का संक्षिपत विवरण दिए बिना पालकों पर संपूर्ण शुल्क जमा करने का दबाव बनाया जा रहा है, शुल्क जमा न करने पर एडमिट कार्ड न देना, रिजल्ट न देने की धमकी दी जाती है। आज पालकों के लिए उचित मापदंड बहुत जरूरी हो गया है। फीस के दबाव व आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने के कारण पालकों को मानसिक प्रताडऩा झेलना पड़ रही है। इस पर एसडीएम ने पालक संघ के ज्ञापन के पश्चात शिक्षण संस्था संचालकों से चर्चा की उसके पश्चात उन्होंने आश्वासन दिया है कि 18 जनवरी को पालकों की समस्याओं का निराकरण कर दिया जाएगा। पालक संघ ने चेतावनी दी है यदि 18 जनवरी को हमारी समस्याओं का निराकरण नहीं हुआ तो पालक संघ द्वारा मजबूरन उग्र आंदोलन किया जाएगा

Post Author: Vijendra Upadhyay