जय मातृभुमि रक्षा मंच द्वारा किया गया कारसेवकों का सम्मान

देवास। 6 दिसम्बर शोर्य दिवस को जय मातृभूमि रक्षा मंच द्वारा श्रीराम जन्मभूमि मुक्ति आन्दोलन में हिस्सा लेने वाले कारसेवको का सम्मान समारोह आयोजित किया गया। 100 से अधिक कारसेवको के इस सम्मान समारोह में मुख्य वक्ता विहिप के पूर्व प्रांत उपाध्यक्ष नरेन्द्र जैन थे। वक्ता के रूप में जिला संघचालक मनोहर विश्वकर्मा थे। विशेष अतिथि महापौर सुभाष शर्मा, मप्र पाठ्यपुस्तक निगम के पूर्व अध्यक्ष रायसिंह सेंधव, अनिल आयचित, प्रेस क्लब अध्यक्ष श्रीकांत उपाध्याय, कन्हैयालाल रिझवानी, निर्माण सोलंकी रहे। अध्यक्षता विहिप के जिलाध्यक्ष मनोहर पमनानी ने की। अतिथियों द्वारा भारत माता के चित्र समक्ष दीप प्रज्जवलन से प्रारंभ हुए सम्मान समारोह में धनराज परमार, बसंत चौरसिया ने गीत की प्रस्तुति दी। अतिथियों का स्वागत मंच के निर्माण सोलंकी, अजीत पवार, विनोद जैन, आनन्दसिंह ठाकुर, नरेन्द्र सोलंकी, पंकज वर्मा, आशीष व्यास, संजय पारखे, पवन खंडेलवाल, यश ठाकुर, दिपेश जैन, नितेश जैन द्वारा किया गया। कारसेवक विष्णु वर्मा सर, राजेश यादव, लोकेन्द्र नागर द्वारा कारसेवा से जुड़े संस्मरण सुनाये। मुख्य वक्ता नरेन्द्र जैन सहित समस्त अतिथि वक्ताओं ने अपने उदबोधन में श्रीराम जन्मभूमि मुक्ति आन्दोलन की संघर्ष गाथा एवं इसमे देवास के हिन्दू बंघुओं, कार्यकर्ताओं के योगदान पर प्रकाश डाला। इसके पश्चात अतिथियों द्वारा कारसेवको को दुपट्टा पहनाकर स्मृति चिन्ह प्रदान करते हुए सम्मानित किया गया।
देश की अखंडता के लिये योगदान देने वाले कार्यकर्ता सम्मानित
देश की अखंडता के लिये कश्मीर से घारा 370 की मुक्ति के लिये विगत 70 वर्षो से लगातार आवाज उठती रही है। देवास के कार्यकर्ताओं द्वारा भी 370 हटाये जाने एवं भारत से कश्मीर की अभिन्नता की आवाज बुलंद करते हुए श्रीनगर के लालचौक में तिरंगा फहराने के लिये निकाली गई एकता यात्रा में हिस्सा लिया गया। इन कार्यकर्ता चन्द्रशेखर घाडग़े, जय अड़सुले, दिनेश जेतवाल, जमनालाल कोदिया, सुधीर भटेले, धर्मेन्द्र पाचुनकर, राजू सुपेकर, ललित चौहान, दिलीप ठाकुर, सुमेरसिंह टाकुर का अतिथियों द्वारा दुपट्टा पहनाकर स्मृति चिन्ह भेंटकर सम्मान किया गया। आभार व्यक्त भूपेन्द्रसिंह ठाकुर एवं संचालन जगदीश सेन ने किया।

Post Author: Vijendra Upadhyay

Leave a Reply