लाइसेंस फीस भरने से पहले ही संचालित होने लगे आहते

देवास। शासन की नीति के अनुसार शराब दुकानों के साथ ही आहते पर बैठकर शराब पिलाई जाती है। सरकार ने कुछ आहतों को शराब दुकानों के साथ ही लाइसेंस फीस लेकर प्रारंभ करने का प्रावधान रखा है, तो कुछ आहतों को दुकान से अलग रखा है और बाद में ठेकेदार से इन आहतों की फीस लेकर आहते चालू करने की अनुमति दी जाती है, किंतु देवास शहर में बगैर लाइसेंस फीस भरे ही 4 से अधिक आहते अघोषित रूप से शुरु हो गए है, जहां पर दबे-छुपे ग्राहकों को बैठाकर शराब पिलाई जा रही है।

बताया जा रहा है कि बालगढ़, मक्सी रोड पर मंडी के पास, स्टेशन रोड व उज्जैन रोड अभिनव टॉकिज के सामने शराब की दुकानों के पास बने आहतों पर शराब पिलाना शुरु कर दिया है। हालांकि अभी तक इन आहतों की लाइसेंस फीस जमा नहीं हुई है। इस संबंध में आबकारी विभाग के कंट्रोल रूम प्रभारी नागेंद्रसिंह जादौन ने बताया कि कुछ लाइसेंस ऑन व कुछ ऑफ होते है। ऑन लाइसेंस का प्रावधान है कि दुकानों के साथ ही आहते भी प्रारंभ किये जा सकते है, क्योंकि इनकी फीस दुकानों के लाइसेंस के साथ ही जमा हो जाती है। जबकि आफ लाइसेंस में सिर्फ दुकान ही चालू हो सकती है। आहते चालू करने के लिए अलग से फीस जमा की जाती है। सोमवार को ऑफिस खुलने के बाद हम बता देंगे कि कौन सी शराब दुकान के पास आहतों के लाइसेंस दिये गए है और किसे नहीं? यदि लाइसेंस फीस जमा किये बगैर कोई आहता संचालित होता है और उसकी शिकायत मिलती है तो उस पर कार्यवाही की जाएगी।

Post Author: Vijendra Upadhyay