गुरु पूर्णिमा पर्व पर महापौर द्वारा परिजनों को पौधे भेंट किए एवं वृक्षगंगा अभियान के संकल्प दिलाए तथा तरु पुत्रों का किया सम्मान

देवास । गायत्री शक्तिपीठ साकेत नगर में गुरुपूर्णिमा के पावन पर्व पर सुबह 9 बजे पंचकुंडीय गायत्री महायज्ञ की शुरूआत श्रीवेदमाता गायत्री, परम पूज्य गुरुदेव पं. श्रीराम शर्मा आचार्य, वन्दनीया माता भगवतीदेवी शर्मा एवं देवोआव्हान व पूजन से की गई । गायत्री महायज्ञ के साथ विभिन्न संस्कार सम्पन्न हुए जिसमे नामकरण, गुरुदीक्षा, मुंडन, विद्यारम्भ प्रमुख रहे । गायत्री महायज्ञ की पूर्णाहुति व आरती पश्चात गायत्री शक्तिपीठ के सभागार में तरुपुत्र रतनलाल गोयल खजूरिया, राजेन्द्र चौधरी राजोदा एवं परिजनों को पौधे भेंटकर वृहद वृक्षगंगा अभियान के अंतर्गत सम्मानित किया ।
गायत्री शक्तिपीठ जनसंचार विभाग के विक्रमसिंह चौधरी एवं विकास चौहान ने बताया कि व्हाट्सअप पर चल रही अखण्ड ज्योति पत्रिका प्रश्नोतरी प्रतियोगिता के विजेताओं का भी सम्मान किया जिसमें खातेगांव की माही अग्रवाल प्रथम रही, देवकरण कुमावत द्वितीय व महेश पटेल तृतीय रहे । परम पूज्य गुरुदेव के साहित्य को अच्छा प्रतिसाद मिला ।
महापौर श्री शर्मा ने कहा कि देवास शहर में स्वच्छता अभियान एवं पर्यावरण संरक्षण के लिए निगम भी पौधे लगायेगा । उपस्थित परिजनों को वृक्षगंगा अभियान के संकल्प दिलाये ।
आयोजन में अतिथि के रूप में वरिष्ठ परिजन शामिल हुए जिसमे ईश्वर लाल भट्ट, संतोष शर्मा, रमेशचंद्र मोदी, हरिनारायण जोशी आदि थे । कार्यक्रम में संगीत टोली एवं महिला मंडल का सराहनीय सहयोग रहा । कार्यक्रम के अंत में उपस्थित परिजनों ने महाप्रसादी ग्रहण की । कर्मकांड का संचालन शिवानन्द गिरी, रामनिवास कुशवाह, चन्द्रिका शर्मा व संगीत टोली ने किया ।कार्यक्रम का संचालन युवा प्रकोष्ठ के प्रभारी प्रमोद निहाले ने किया एवं आभार धर्मेन्द्र कुशवाह ने माना ।
गायत्री प्रज्ञापीठ विजय नगर पर भी प्रात: से ही गुरु भाईयो का तांता लगा रहा । प्रज्ञापीठ संरक्षिका दुर्गा दीदी के सानिध्य में प्रात: 9 बजे से पंचकुंडीय गायत्री महायज्ञ हुआ साथ ही विभिन्न संस्कार हुए । पूर्णाहुति पश्चात आरती एवं महाप्रसादी का आयोजन किया गया जिसका उपस्थित परिजनों ने लाभ लिया ।

Post Author: Vijendra Upadhyay

Leave a Reply