देवास जिला चिकित्‍सालय में ओपीडी, मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य सेवा हुई वातानुकूलित

देवास जिला चिकित्‍सालय की बदली तस्वीर

जिला चिकित्सालय इंफ्रास्ट्रक्चर और स्वास्थ्य सेवाओं के क्षेत्र में एक उदाहरण के रूप में होगा प्रस्तुत

      देवास 22 जुलाई 2021/ कलेक्टर श्री चंद्रमौली शुक्ला के मार्गदर्शन में देवास जिला चिकित्सालय का कायाकल्‍प किया गया है। अब जिला चिकित्‍सालय देवास की तस्वीर बदल गई है। जिला चिकित्‍सालय जिले की सबसे बड़ी स्वास्थ्य सेवा देने वाली संस्था है। जहां जिले की विभिन्न अस्‍पतालों से मरीज रेफर होकर भी आते है। कई वर्षों से कायाकल्प में प्रयासरत जिला चिकित्सालय अब आदर्श चिकित्‍सालय बन गया है।
प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी ने भी 17 जुलाई देवास भ्रमण के दौरान जिला चिकित्सालय का निरीक्षण किया था। स्वास्थ्य मंत्री डॉ चौधरी ने जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की प्रशंसा करते हुए कहा कि जिले में बहुत अच्छा काम किया गया है। देवास जिला चिकित्सालय अन्य जिलो के लिए उदाहरण बनेगा। देवास जिला चिकित्सालय इंफ्रास्ट्रक्चर और स्वास्थ्य सेवाओं के क्षेत्र में एक उदाहरण के रूप में प्रस्तुत होगा तथा  अन्य जिलों को भी इससे प्रेरणा मिलेगी।
जिला अस्पताल का कायाकल्प होने पर सांसद श्री महेंद्र सिंह सोलंकी और विधायक श्रीमती गायत्री राजे पवार ने 18 जुलाई 2021 को गणेश पूजन कर व फीता काटकर कर किया जिला चिकित्‍सालय का उद्घाटन किया था।
जिला चिकित्‍सालय में कायाकल्प अभियान के अंतर्गत स्त्री रोग विभाग में प्राथमिकता के तौर पर कायाकल्‍प किया गया है। जिसमें ओपीडी पूरी तरह से वातानुकूलित किया गया है। गर्भवती माताओं के बैठने के लिए व्‍यवस्थित व्यवस्था की गई है। डॉक्टर केबिन में बैठक व्यवस्था को पूरी तरह नया स्‍वरूप दिया गया है। अस्पताल में गर्भवती माताओं की समस्त आवश्यक जांच, टीकाकरण, अन्य उपचार व्यवस्थाओं को दुरुस्त किया गया है। अस्पताल में आने वाली गर्भवती माताओं को अच्छे वातावरण में उपचार दिया जाएगा। मरीजों को सलाह देने के लिए हेल्प-डेस्क बनाया जा रहा है। जहां पर अस्पताल में दी जा रही सुविधाओं की जानकारी दी जायेगी।
जिला चिकित्‍सालय के कायाकल्‍प में नगर निगम आयुक्त श्री विशाल सिंह चौहान, अनुविभागीय अधिकारी श्री प्रदीप सोनी, सीएमएचओं डॉ. एम.पी. शर्मा का विशेष सहयोग रहा। फोटो संलग्‍न (फाईल फोटो)

Post Author: Vijendra Upadhyay