राष्ट्र की एकता और अखंडता में श्री पटेल का योगदान अविस्मरणीय है- एफबी मानेकर

राष्ट्रीय एकता दिवस पर चिमनाबाई की छात्राओ ने ली शपथ
देवास। भारत के पहले उप-प्रधानमंत्री और गृह मंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल की 144वी जयंती महारानी चिमनाबाई शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाई गई। विद्यालय प्रांगण मेें प्राचार्य एफ.बी. मानेकर के मार्गदर्शन में दोपहर पाली प्रभारी श्रीमती सुनीता खाबिया ने छात्राओ एवं शिक्षक-शिक्षिकाओ को राष्ट्रीय एकता, अखण्डता और सुरक्षा बनाए रखने की शपथ दिलाई। श्री मानेकर ने छात्राओ को संबोंधित करते हुए कहा कि सरदार पटेल ने स्वतंत्रता के संघर्ष में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई एवं स्वतंत्रता पश्चात राष्ट्र की एकता और अखंडता में उनका योगदान अविस्मरणीय है। सरदार पटेल कहते थे कि आज हमें ऊंच-नीच, अमीर-गरीब, जाति-पंथ के भेदभावों को समाप्त कर देना चाहिए। तभी हम एक उन्नत देश की कल्पना कर सकते है। श्री मानेकर ने कहा कि पटेल के अनुसार इंसान को अपना अपमान सहने की कला भी आनी चाहिए।
इस प्रकार सरदार पटेल के विचारों से एक नई ऊर्जा का संचार होता है। सरदार पटेल की एक ही इच्छा है कि भारत एक अच्छा उत्पादक हो और इस देश में कोई अन्न के लिए आंसू बहाता हुआ भूखा ना रहें। इस अवसर पर निबंध एवं भाषण प्रतियोगिताएं भी आयोजित की गई, जिसमें विद्यालय की छात्राओ ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया।

Post Author: Vijendra Upadhyay

Leave a Reply