पूछता है देवास- मटमैला पानी कब तक पिए देवास की जनता?

देवास टाइम्स/ देवास शहर में पिछले 5 दिनों से नलों में मटमैला पानी आ रहा है। जिसका सोशल मिडिया पर भी विरोध हुआ। लेकिन अधिकारियो ने स्पष्ट किया की यह पानी पिने योग्य है। शिप्रा नदी में बारिश से डेम में पानी मटमैला हो गया है। जिसे साफ करने के लिए जल संसाधन विभाग द्वारा एलम और बिल्चिंग डाला गया है।

बताया जाता है की शिप्रा में आसावंती पहाड़ी का एक नाला मिलता है जिससे डेम का पानी मटमैला हो जाता है। लेकिन आज पूरे पांच दिन हो चुके है लेकिन पानी आज भी घरो में मटमैला ही आरहा है।

इससे यही सिद्ध होता है की नगर निगम के पास पर्याप्त संसाधन की कमी है जिससे पानी को साफ किया जा सके। पर्याप्त संसाधन के लिए जल विभाग भी ध्यान नहीं दे रहा है। शायद उनका भी नगरनिगम कमिश्नर विशाल सिंह चौहान को लेकर डर ख़त्म हो चूका है।

एक समय था जब नगर निगम के सारे कर्मचारी कमिश्नर विशाल सिंह चौहान के नाम से डरते थे। जब उनकी कार्यशैली देखते ही बनती थी। देवास का हर आम आदमी उनके कार्य की प्रशंसा करता था। लेकिन अब किन कारणों से यह दबदबा कम हो रहा है। यह आम लोगो के मन में सवाल खड़े कर रहा है।

Post Author: Vijendra Upadhyay