अयोध्या की तर्ज पर जिले के रतेडी में 100 वर्षो पुराना श्रीराम मंदिर का जीर्णीद्धार होगा

ग्रामीणजनों ने भूमि पूजन के साथ लिया सकंल्प 1 वर्ष में पूर्ण करने का 
देवास।  500 वर्ष बाद अयोध्या में आज के दिन अभिजीत मूर्हत में 5 अगस्त को ऐतिहासिक क्षण का पूरा देश साक्षी हुआ। मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर के शिलान्यास के उपलक्ष्य में एक तरफ अयोध्या में प्रधानमंत्री द्वारा शीलान्यास किया जा रहा था वही दूसरी और देवास जिले के ग्राम रतेडी में 1919 में बने प्राचीन मंदिर जो 100 वर्षो से गारे, मिट्टी से बने मंदिर में प्रभु श्रीराम, माता सीता व लक्ष्मण जी विराजीत है। उक्त मंदिर के जीर्णीद्धार के लिये सरपंच विजय पटेल व ग्रामीणों ने भी इस प्राचीन मंदिर का भी अयोध्या जैसे भव्य मंदिर बनाने का जिम्मा उठाया गया। ग्राम वासियों द्वारा आयोध्या में प्रभु श्रीराम का स्मरण करते हुए देवास जिले के रतेडी में प्राचीन राम मंदिर में भूमि पूजन का कार्यक्रम किया गया जिसके चलते ग्राम वासियों ने इस प्राचीन श्रीराम मंदिर में भजन किर्तन करते हुए मंत्रोउपचार के साथ शंख, घंटी घडियाल बजाये गए। इस अवरसर पर भूमि पूजन गांव के वरिष्ठ मदन पटेल के करकमलो द्वारा किया गया। जिसके बाद गांव में जुलुस निकाला गया और अनेक देवी देवताओं का आव्हान किया गया। वही मंदिर को आकर्षक सजाते हुए भगवा ध्वज लगाये गये और अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण के भूमिपूजन का चहुं ओर उत्साह छाया हुआ था  उसी तर्ज पर ग्राम रतेडी में भी राम भक्तों में उत्साह देखा गया। इस अवसर पर ग्राम के विशेष अतिथि के रूप में बसंतीलाल मीणा, हरिमोहन मीणा, बद्रीलाल  भाटी, सीताराम भाटी, प्रेम टेलर, ओम मीणा, रामनिवास मीणा, कमल पटेल, पूर्व सरंपच रतलसिंह मीणा, शुभम शर्मा , राजेश मीणा मोटर वाईडीग,कन्हैयालाल मीणा, उमेश मीणा, ईश्वर मीणा, नंदकिशोर मीणा, सीतराम दायमा, श्रीराम चन्दर नागर, कमलकिशोर मीणा, रवि मीणा, जुगल मीणा, अम्बाराम सोलंकी, नारायण सोलंकी, मोहन मालवीय के साथ ही अन्य ग्रामीणजन उपस्थित थे।

Post Author: Vijendra Upadhyay