गरीबों के खाद्यानो पर धन्ना सेठों का डाका

इंदौर। महू जिला इंदौर के व्यापारी मोहन अग्रवाल के द्वारा गरीबों के खाद्यान परिवहन में जो घोटाला किया गया है, जिसमे इंदोर के कैलाश सोनी ने आरोप लगया है कि खाद्य विभाग के अधिकारी नागरिक आपूर्ति निगम के अफसर एवं मंडी सचिव भी बराबर के दोषी हैं, इन तीनों विभागो के सहयोग के बिना यह घोटाला सम्भव ही नहीं है।
कैलाश सोनी के हिसाब से महू मंडी प्रांगण स्थित गोडाऊन के अन्दर मोहन अग्रवाल के मजदूर रात-दिन 7 दिनों लगातार खाद्यानो की बोरियां खोलकर उसमें मिलावट कर मशीनो से सिलाई कर कंट्रौल की दुकानों पर सप्लाय करते थे। गोडाउन के अन्दर सिलाई मशीन अनाज छानने के चलने बरामद किए जा सकते हैं।
खाद्य अधिकारी व मंडी सचिव और नागरिक आपूर्ति निगम के अफसरों को भी सह आरोपी बनाया जाना चाहिए जिससे कि गरीबों की खाद्यान पर भविष्य में इस प्रकार अधिकारी, कर्मचारी डाका नहीं डाल सकें ।

Post Author: Vijendra Upadhyay