पानीपत शौर्ययात्रा का आगमन देवास में

देवास। देश की अखण्डता के लिए मराठो के अमर बलिदान के संग्राम को 259 वर्ष पूरे होने जा रहे है। सन 1761 में अहमद शाह अब्दाली के बाहरी आक्रमण से मुकाबला करने के लिए मराठो ने पानीपत जाकर अब्दाली को रोका था। इसी संग्राम का अध्ययन करने के लिए कोल्हापुर से पानीपत तक शौर्ययात्रा निकाली जा रही है। यात्रा में लगभग 100 यात्री शामिल है। यात्रा का आगमन 11 जनवरी, शनिवार को प्रात: 10 से 12 बजे तक स्थानीय मण्डी व्यापारी धर्मशाला देवास में मराठाकालीन साहसिक खेलो का प्रदर्शन होगा। रेवंत राजोले एवं संकेत सुपेकर ने शहरवासियो, छात्रो एवं प्रबुद्ध वर्ग से अपील की है कि होने वाले आयोजन में अधिक से अधिक सहभागिता कर मराठाकालीन कला को देखने हेतु अवश्य पधारे।

Post Author: Vijendra Upadhyay

Leave a Reply