पूछता है देवास में मुद्दा उठाने के बाद आयुक्त ने दिए निर्देश

शहर मे गंदा पानी मिलने की शिकायत पर आयुक्त द्वारा तत्काल समस्या को हल करने के निर्देश
देवास/ शहर के कुछ क्षेत्रो मे गंदे पानी की शिकायत प्राप्त होने से शिकायत का तत्काल निराकरण करने हेतु नगर निगम आयुक्त विशालसिह चौहान द्वारा निगम जलप्रदाय के संबंधित विभाग प्रमुखो को निर्देश दिये गये। आयुक्त ने बताया कि शहर मे गंदा पानी आने का कारण था वर्षाकाल का पानी, जो वर्षा के दौरान नदी मे पहाडो तथा किनारो का गादयुक्त मिट्टी के पानी का बहाव नदी मे आना रहा। जो कि वह पानी फिल्टर प्लांट के माध्यम से फिल्टर होकर तथा लेब मे चेक होकर शहर की रानीबाग, शंखद्वार, उत्तम नगर, जय बजरंग नगर, अमोना टंकीयो के माध्यम से सप्लाय किया जा रहा है। प्लांट पर पानी फिल्टर हेतु निर्धारित मात्रा मे एलम, ब्लीचिंग तथा पीएसी की मात्रा डालकर फिल्टर किया जाता है।

आयुक्त ने कहा कि शहर के नागरिको को स्वच्छ व साफ पानी वितरण के लिये प्लांट पर पानी फिल्टर के लिये एलम 74 टन, ब्लीचिंग 16.67 टन तथा पीएसी की पर्याप्त  मात्रा मे व्यवस्था है। किन्तु कुछ क्षेत्रो मे मेंटनेंस कार्य चालू होने से सप्लाय लाईन मे कुछ लिकेज होना तथा लिकेज से सप्लाय लाईन मे वर्षा का पानी मिलकर सप्लाय लाईन से वितरण मे मटमेला पानी आना संभावित है। आयुक्त ने कहा कि मेरा पूरा प्रयास हे कि शहर मे प्रत्येक घर मे स्वच्छ साफ पानी पीने को मिले, इस हेतु जलप्रदाय टीम को पानी सप्लाय के समय सप्लाय एरिये मे पाईप लाईन चेक करने के निर्देश दिये। जिससे लिकेज तथा गंदे पानी की समस्या का होना तथा उसी समय टीम वर्कर को साथ लेकर उक्त समस्या का निदान तत्काल कराने के निर्देश संबंधित अधिकारियो को दिये गये है।

आयुक्त द्वारा निगम जलप्रदाय सहायक यंत्री को निर्देश दिये गये कि वे फिल्टर प्लांट का सप्लाय योग्य पानी तथा टंकी से सप्लाय किये जाने वाले पानी का सेंपल प्रतिदिन आयुक्त कक्ष कार्यालय मे भेजना सुनिश्चित करेगें।  आयुक्त ने वर्षाकाल के समय को देखते हुये शहर मे जल वितरण के समय को लेकर प्लानिंग करने के निर्देश कार्यपालन यंत्री को दिये गये। 

Post Author: Vijendra Upadhyay