कलेक्टर शुक्ला के मार्गदर्शन में “किल-कोरोना अभियान” में 1 जुलाई से 15 जुलाई तक देवास जिले के 17 लाख 66 हजार 471 लोगों का हुआ सर्वे

किल-कोरोना अभियान मे सर्वे के दौरान 6122 व्यक्तियों के कोरोना जॉच हेतु सैम्पल लिये

———-

3 लाख 21 हजार 999 घरों तक पहुंचे सर्वे दल, सर्वे में सर्दी, खांसी व बुखार से 3299 व्यक्ति ग्रसित पाए गए

————

सर्वे के दौरान 8318  गर्भवती महिलाओं का हुआ स्‍वास्‍थ्‍य परीक्षण

———–

 देवास 16 जुलाई 2020/  राज्य शासन के निर्देश पर एवं कलेक्टर चंद्रमौली शुक्ला के मार्गदर्शन में देवास जिले में एक जुलाई से शुरू किये गये “किल-कोरोना अभियान” के तहत दल द्वारा घर-घर सर्वे जांच व उपचार किया गया। “किल-कोरोना अभियान” में जिले के 3 लाख 21 हजार 999 घरों का सर्वे कर 17 लाख 66 हजार 471  लोगों से संपर्क किया गया। सर्वे दलों द्वारा शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में निरन्तर घर-घर जाकर सर्वे किया गया और सर्दी, खांसी, बुखार, मलेरिया, डेंगू व अन्य बीमारियों के लोगों को चिंहित किया गया। दिनांक 01 जुलाई से 15 जुलाई  तक 97.76 प्रतिशत सर्वे पूर्ण हो चुका है। स्वास्थ्य कार्यकर्ता और एमएमयू टीम द्वारा जाँच व उपचार उपलब्ध कराने के लिए जिले में कुल 1657 सर्वे दलों ने घर-घर सर्वे किया जिनमें जिले कि आशा, एएनएम, आंगनवाडी और स्वास्थ्य कार्यकर्ता, सम्मिलित की महत्वपूर्ण भूमिका रही। सर्वे के दौरान 8318  गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य की जांच भी स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं द्वारा घर-घर जाकर कि गई। सर्वे पश्चात स्वास्थ्य कार्यकताओं, एमएमयू टीम (मेडिकल ऑफिसर), कलस्टर, सेक्टर नोडल, जिले और ब्लाक लेवल के सभी विभागों और अन्य विभागों के अधिकारियों और नोडल अधिकारियों ने अपनी महत्वपूर्ण जिम्मेदारियों का निर्वहन करते हुए अभियान को सफल बनाया। जिले में कोरोना संक्रमण रोकने के लिए जिला प्रशासन द्वारा किये गये कार्यो की गत दिवस हाटपीपल्‍या कार्यक्रम में मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कोरोना समीक्षा बैठक में सराहना भी की थी।

जिले में किल कोरोना अभियान जिला पंचायत सीईओ श्रीमती शीतला पटले, नगर निगम आयुक्त विशाल सिंह चौहान, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एम.पी.शर्मा के साथ ब्लाक के अनुविभागीय अधिकारियों, ब्‍लॉक मेडिकल अधिकारियों, शहरी नोडल अधिकारी सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारियों, स्वास्थ्य विभाग सिविल सर्जन डॉ. अतुलकुमार बिडवई, आर.एम.ओ. डॉ.एम.एस.गोसर, डॉ.एस.एस.डगावंकर, कोविड-19 जिला नोडल अधिकारी डॉ.एस.एस. मालवीय, जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. रशिम दुबें, डॉ. एच. एस.राणा के निर्देशन मे चिकित्सकीय, पैरामेडिकल, नर्सिग स्टॉफ, प्रबंधकीय स्‍टॉफ, आपरेटिंग स्‍टॉफ (कोरोना कमांड सेंटर) जिले की सभी टीमो ने उत्साह के साथ कार्य कर शासन के महत्वपूर्ण ‘’किल-कोरोना अभियान’’ 01 से 15 जुलाई 2020 को सफल बनाया।

     मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एम.पी.शर्मा ने बताया कि जिले मे अभियान के प्रारम्भ से ही स्वास्थ्य विभाग और महिला बाल विकास विभाग के अमले द्वारा सर्वे का कार्य किया गया। कलेक्टर शुक्ला के मार्गदर्शन मे कोरोना योद्धाओं द्वारा जिले में सर्वे कार्य किया गया। जिले की 287 जाच दलो मे स्वास्थ्य कार्यकताओं द्वारा आरडी किट से मलेरिया की जाँच कि कार्यवाही की गयी। जिसमे मलेरिया के 59 संदिग्ध प्रकरण भी चिन्हित किये गये। कोरोना के संभावित लक्षण वाले लोगो का चिन्हांकन किया जाकर जिले की 37 एमएमयू टीम (मेडिकल ऑफिसर) द्वारा 6122 व्यक्तियों के सैम्पल लिये गयें साथ ही सर्वे के दौरान गर्भवती महिलाओं और बच्चे के टीकाकरण की जानकारी प्राप्त की गई सर्वे के दौरान 8318  गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य की जांच भी स्वास्थ्य कार्यकताओ द्वारा घर-घर जाकर कि गई। टीकाकरण संबंधित सेवायें हेतु आगामी टीकाकरण सत्र मे आने हेतु हितग्राही को समझाईस दी गई।  इसके साथ अन्य बीमारियों से ग्रसित  लोगो की जानकारी ली जाकर उपचार किया गया। किल कोरोना अभियान के तहत कोरोना के संभावित लक्षणों वाले लोगो को चिंहित कर, सार्थक एप्प पर ऑनलाइन एंट्री की गई है।       डॉ. एम.पी.शर्मा ने बताया कि अभियान मे जिले की टीम ने सराहनीय कार्य किया है साथ ही आने वाले समय मे भी शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में निरन्तर घर-घर जाकर स्थानीय स्वास्थ्य अमले द्वारा लोगो से सम्पर्क किया जाकर कोरोना के संदिग्ध लोगों कि पहचान कर आवश्‍यक उपचार किया जावेगा। साथ ही अपील की है कि कोरोना से घबरायें नही सावधानी के साथ समय-समय पर जिला प्रशासन द्वारा दिये जा रहे निर्देशो का पालन करें, परिवार और सामाजिक जिम्मेदारी का निरर्वहन करतें हुए हम सब सुरक्षित रहेंगे।             

Post Author: Vijendra Upadhyay