‘‘मोबाईल की दुकान में चोरी करने वाले आरोपीगण की जमानत निरस्त’’

देवास। जिला अभियोजन अधिकारी, राजेन्द्र खांडेगर जिला देवास द्वारा बताया गया कि फरियादी विवेक गुर्जर ने थाना नेमावर पर आकर रिपोर्ट दर्ज कराई की। मैं वार्ड क्रमांक 02 नेमावर में रहता हूॅ। मेरी मोबाईल की दुकान बस स्टैण्ड पर है। दिनांक 07.08.2020 को रात करीब 09.30 बजे में मेरी दुकान को बन्द करके मेरे घर आ गया था। रात को करीब 12.30 बजे तक मैनें मेरी दुकान के सीसीटीवी कैमरे को मेरे मोबाईल में अपने घर पर चैक कर रहा था व मेरे घर की एलसीडी में इन्स्टाॅल कर रहा था। इन्स्टाॅल नही हुआ तो मैं सो गया। अगले दिन सुबह 08.00 बजे मैं मेरी दुकान बस स्टैण्ड पर गया तो मैनें देखा कि मेरी दुकान की शटर का ताला टूटा हुआ था फिर मैनें दुकान के अन्दर देखा तो मेरी दुकान में रखा 01 एलजी कम्पनी का एलसीडी और एक एलजी कम्पनी का सीपीयू जो पिछले साल खरीदे थे, 01 रेडमी 08 कम्पनी का नया मोबाईल एवं 10 पुराने मोबाईल जो ग्राहको ने रिपेयरिंग के लिये दिये गये थे, नही मिलें। और अन्य सामान में मेमोरी कार्ड, पेन ड्राइव, चश्मा, हाथ घड़ी और मोबाईल बैटरिया इत्यादि भी गायब थी। जिसकी रिपोर्ट करने आया हूॅ। उक्त रिपोर्ट के आधार पर थाना नेमावर में अपराध क्रमांक 193/2020 धारा 457,380 भादवि में पंजीबद्ध कर जांच के दौरान आरोपी नीतेश पिता मगनलाल और नरेन्द्र पिता जगन्नाथ निवासीगण गन लो रास को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया।

आरोपीगण द्वारा जमानत हेतु न्यायालय न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी तह. खातेगांव के समक्ष जमानत आवेदन प्रस्तुत किया गया। जहां शासन की ओर से एडीपीओ रमेश कारपेन्टर द्वारा वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से आरोपीगण की ओर से प्रस्तुत जमानत आवेदन का विरोध कर जमानत आवेदन निरस्त कराते हुए आरोपीगण को जेल भिजवाया गया।


Post Author: Vijendra Upadhyay